अमीत शाह पाक के हिन्दू शरणार्थियों से मिले और नागरिकता देने का भरोसा दिलाया

0
48

पायलट न्यूज़ पॉइंट

नई दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों से मुलाकात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि उन्हें लंबे समय के लिए वीजा प्रदान किए जाएंगे ताकि वह इस देश में बस सके और कानून के मुताबिक इन्हें नागरिकता देने के केसों में तेजी लाई जाएगी। गृह मंत्री ने यह भरोसा पाकिस्तान के हिंदुओं को दिलाया जिन्होंने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा की अगुवाई में शनिवार को अमित शाह ने मुलाकात की थी। सिरसा ने अपील कर कहा कि जो परिवार श्रद्धालु विजिटर वीजा पर भारत आए हैं और भारत में बसना चाहते हैं उन्हें नागरिकता दी जाए। सिरसा ने केंद्रीय गृह मंत्री को बताया कि तकरीबन 750 हिंदू मजनू का टीला गुरुद्वारा साहिब के उत्तर में यमुना के किनारे टोंटों में रह रहे हैं। यह लोग पड़ोसी मुल्क से भागकर यहां आए हैं और यहां शरण चाहते हैं जबकि कई अन्य दिल्ली के बाहरी रोहिणी सेक्टर 9 और 11 आदर्श नगर व सिगनेचर ब्रिज के नजदीक बसे हुए हैं। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान हिंदू विजिटर श्रद्धालु टूरिस्ट वीजा पर आए हैं पर इनमें से कुछ पाकिस्तान में असुरक्षित महसूस करते हैं इन्हें भारतीय नागरिकता मिलने की आशा है। सिरसा ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि सभी हिंदू शरणार्थियों को देश की नागरिकता प्रदान की जाएगी और परिवार के मुख्य को एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा जो पूरे परिवार के लिए मानय वैद्य होगा। दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने केंद्रीय गृहमंत्री से पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों द्वारा महसूस की जा रही है और सुरक्षा की भावना पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि अन्य अल्पसंख्यकों की तरह यह भी अपने पारिवारिक सदस्यों खास तौर पर नौजवान बेटियों की सुरक्षा और महान प्रतिष्ठा के प्रति चिंतित हैं। उन्होंने बताया कि यह भी खतरा था कि इन लड़कियों को अगवा कर जबरन मुसलमान बनाकर मुस्लिम लड़कों से विवाह करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह सही समय है जब देश की नागरिकता संशोधन एक्ट बनाया है ताकि पाकिस्तान अफगानिस्तान बांग्लादेश के शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता दी जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार को नियमों में और सुधार कर समय सीमा समाप्त कर देनी चाहिए ताकि और भी परिवार भविष्य में यहां आकर बस सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here