साइबर फ्रॉड का नया तरीका

0
113

पायलट न्यूज़ पॉइंट

मुंबई ; कोरोना महामारी से बचने को लेकर लगे लॉकडाउन के दौरान साइबर फ्रॉड की वारदात में तेजी से वृद्धि हुई है महाराष्ट्र साइबर पुलिस उन्हें ट्रेस करने में जुटी हुई है, तो जालसाज ऑनलाइन फ्रॉड के नए-नए तरीके याजाद कर रहे हैं। साइबर फ्रॉड का एक नया तरीका सामने आया है, जिनके माता-पिता घर पर अकेले रहते हैं वे दोनों पति-पत्नी सर्विस करते हैं। महाराष्ट्र साइबर पुलिस के मुताबिक जालसाज पहले सोशल मीडिया में सक्रिय वृद्ध माता पिता के साथ जान पहचान बढ़ाते हैं और उनसे सारी जानकारी एवं उनके फोटो बहाने से मांग लेते हैं। वे 1 दिन वृद्ध माता पिता को मोबाइल कुछ समय के लिए बंद करने के लिए कहते हैं और इसी दौरान फोटो से एक फर्जी वीडियो बनाकर उनके बेटे और बहू को भेजते हैं। इसके बाद बेटे और बहू को उनके माता-पिता का अपहरण होने की बताते हैं। उनको धमकी देकर फिरौती की रकम रकम की मांग करते हैं। वह एक बैंक अकाउंट नंबर देते हैं और उस अकाउंट में फिरौती की रकम नहीं देने पर माता-पिता को जान से मारने की धमकी भी देते हैं। बेटी और बहू अपने माता-पिता को फोन करते हैं जब उनका नंबर स्विच ऑफ बताता है तो अपने माता-पिता के अपहरण की बात पर विश्वास हो जाता है। वह घबराकर फिरौती की रकम ट्रांसफर कर देते हैं। जालसाजों के शिकार सबसे अधिक वह बेटे और बहू हो रहे हैं जिनके माता-पिता उनसे अलग रहते हैं।

महाराष्ट्र साइबर पुलिस ने लोगों को किया सावधान

साइबर पुलिस ने लोगों को सावधान किया है कि वे अपने माता-पिता से सतत संपर्क में रहे और ऐसा कोई भी कॉल आता है तो पुलिस में शिकायत करें। घर पर साधारण फोन भी रखें। जिससे एक नंबर बंद होने पर दूसरे नंबर से संपर्क हो सके। इससे पहले साइबर पुलिस ने व्हाट्सएप मैसेज भेज कर ऑक्सी पल्स मीटर जैसे ऐप डाउनलोड कर संवत अपने ऑक्सीजन की जांच करने का झांसा देकर धोखाधड़ी को ट्रेस किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here